Inter Exam 2024 Geography ( भूगोल ) ( लघु उत्तरीय प्रश्न उत्तर ) Question Answer Class 12th 2024 | ( 20 Marks ) PART – 5

दोस्तों अगर आप कक्षा 12वीं की तैयारी इस बार कर रहे हैं तो यहां पर भूगोल का महत्वपूर्ण लघु उत्तरीय प्रश्न उत्तर दिया हुआ है तथा अगर आप कक्षा 12 भूगोल का ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर ( class 12th Geography objective question answer को भी पढ़ना चाहते हैं तो उसका लिंक भी मिल जाएगा कक्षा 12 भूगोल का लघु उत्तरीय प्रश्न उत्तर पीडीएफ 2024, भूगोल का लघु उत्तरीय प्रश्न उत्तर कक्षा 12 बिहार बोर्ड 2024

दोस्तों कक्षा 12 भूगोल का यह लघु उत्तरीय प्रश्न उत्तर बहुत ही महत्वपूर्ण है Class 12 Geography Short Answer Question Answer 2024 PDF Download इसलिए इन सभी को विशेष ध्यान दें और अपनी तैयारी को बेहतर करें। कक्षा 12 भूगोल का लघु उत्तरीय प्रश्न उत्तर 2024 पीडीएफ डाउनलोड  यह सभी प्रश्न इंटर बोर्ड परीक्षा में हमेशा पूछे जाते हैं इसलिए शुरू से अंत तक जरूर देखें और अपने दोस्तों में शेयर करें

Geography ( लघु उत्तरीय प्रश्न उत्तर ) | PART – 5

 

NCERT Class 12 Geography Solutions 2024 for Answers & Questions 2024

Q101. जीवन पर्यंत प्रवासी और पिछले निवास के अनुसार प्रवासी में अंतर स्पष्ट कीजिए।

उत्तर ⇔  भारत की जनगणना में प्रवास की गणना दो आधारों पर की जाती है—(अ) जन्म का स्थान और (ब) निवास का स्थान । यदि जन्म का स्थान गणना के स्थान से भिन्न है, तो इसे जीवनपर्यंत प्रवासी के नाम से जाना गया है। यदि निवास का पिछला स्थान गणना के स्थान से भिन्न है, तो इसे निवास के पिछले स्थान से प्रवासी के रूप में जाना जाता है।
2001 की जनगणना के अनुसार भारत में 30.7 करोड़ (30%) प्रवासी अपने जन्म के स्थान से अलग रह रहे थे, जबकि 31.5 करोड़ (31%) अपने पिछले निवास स्थान से अलग रह रहे थे।


Q102. मानव विकास सूचकांक को विकसित करने वाले चरों के नाम लिखिए।

उत्तर ⇔  मानव विकास सूचकांक को विकसित करने वाले चरों में राष्ट्रीय आय, पूँजी निर्माण दर, लोगों के आर्थिक कल्याण और रहन-सहन का स्तर, शिक्षा, स्वास्थ्य, सामाजिक सशक्तिकरण इत्यादि मुख्य है।


Q103. वृद्धि और विकास में अंतर स्पष्ट करें।

उत्तर ⇔  वृद्धि और विकास दोनों समय के संदर्भ में परिवर्तन को इंगित करते हैं। अंतर यह है कि वृद्धि मात्रात्मक और मूल्य निरपेक्ष है, जो धनात्मक या ऋणात्मक हो सकती है, जबकि विकास का अर्थ गुणात्मक परिवर्तन से है, जो सदैव धनात्मक और मूल्य सापेक्ष होता है। 


Q104. उत्तरी भारत के अधिकांश राज्यों में मानव विकास के निम्न स्तरों के दो कारण बताइए।

उत्तर ⇔ उत्तरी भारत के अधिकांश राज्यों में मानव विकास के निम्नस्तर के निम्नलिखित दो महत्त्वपूर्ण कारण हैं

(क) गरीबी (Poverty) ⇒ गरीबी वंचित रहने की अवस्था है। यह व्यक्ति की सतत, स्वस्थ और यथोचित उत्पादक जीवन जीने के लिए आवश्यक जरूरतों को संतुष्ट न कर पाने की असमर्थता को प्रतिबिंबित करती है। उड़ीसा और बिहार की 40 प्रतिशत से अधिक और मध्यप्रदेश, सिक्किम, असम, त्रिपुरा, अरुणाचलप्रदेश, मेघालय, नागालैंड की 30 प्रतिशत
से अधिक जनसंख्या गरीबी रेखा के नीचे हैं। इन सभी राज्यों में प्रति व्यक्ति आय और उपभोग पर खर्च राष्ट्रीय औसत से काफी कम है। अतः इन राज्यों में मानव विकास का स्तर निम्न है।

(ख) साक्षरता का निम्न स्तर (Low level of literacy) ⇒ विकास मुक्ति है और मुक्ति का रास्ता साक्षरता से होकर जाता है। उत्तरी भारत के अधिकांश राज्यों में साक्षरता का स्तर निम्न है। उदाहरणस्वरूप, बिहार में केवल 47.50 प्रतिशत, अरुणाचल प्रदेश में 54.74 प्रतिशत, जम्मू और कश्मीर में 54.46 प्रतिशत और झारखण्ड में54.13 प्रतिशत व्यक्ति ही साक्षर हैं। इन सभी राज्यों में स्त्री साक्षरता तो और भी निम्न है। अत: इन राज्यों में मानव विकास के स्तर निम्न हैं।


Q105. भारत में घटते लिंगानुपात के कोई दो कारणों का उल्लेख करें।

उत्तर ⇔ भारत में घटते लिंगानुपात के निम्नलिखित दो कारण हैं

(क) सामाजिक दृष्टिकोण भारत में स्त्रियों की अपेक्षा अधिक पुरुष जन्म लेते हैं। भारतीय परिवार पुरुष प्रधान है, जिसमें स्त्रियों का स्थान गौण रह जाता है। तिरस्कार के कारण शैशव काल में स्त्री-मृत्युदर अधिक है। बाल विवाह के कारण प्रसव के समय भी बहुत स्त्रियों की मृत्यु हो जाती है। अतीत काल में स्त्री-शिशुओं की हत्या की प्रथा तथा महामारियों मेंस्त्रियों की अधिक मृत्यु के कारण लिंगानुपात में कमी होती गई।

(ख) लिंग-निर्धारण की वैज्ञानिक विधि ⇒  इस वैज्ञानिक विधि के आने के बाद कन्या भ्रूण की हत्या तेजी से हो रही है। समाज में दहेज आदि कुरीतियों के कारण लोग कन्या का
जन्म नहीं चाहते हैं और उन्हें जन्म लेने से पहले ही समाप्त कर दिया जाता है।


class 12th Geography Question 2024 Bihar Board

Q106. भारत की जनसंख्या की प्रमुख जनांकिकीय विशेषताएँ कौन-सी हैं? (What are the main demographic attributes of Indian population ?)

उत्तर ⇔ भारत की जनसंख्या की प्रमुख जनांकिकीय विशेषताएँ निम्नलिखित हैं

(i) आयु-संरचना (Age composition) आयु संरचना से तात्पर्य है आयु के आधार पर जनसंख्या का वर्गीकरण। भारत में 2001 ई० में 10 से 19 वर्ष की आयु वाले किशोरों का प्रतिशत बहुत अधिक (22%) है।

(ii)लिंग-अनुपात (Sex ratio) ⇒ इसके अंतर्गत स्त्री-पुरुष अनुपात का अध्ययन होता हैऔर इसे प्रति हजार पुरुषों पर स्त्रियों की संख्या में व्यक्त किया जाता है। भारत में पुरुषों की संख्या स्त्रियों से अधिक है। 2001 में लिंग-अनुपात 933 प्रति हजार है।

(iii) नगरीय और ग्रामीण जनसंख्या (Urban and rural population) ⇒ निवास-स्थान के आधार पर भारत की 77.2% जनसंख्या ग्रामीण और 27.8% जनसंख्या नगरीय है।

(iv) कार्यरत और आश्रित जनसंख्या (Working and dependant population) ⇒ भारत में 39% जनसंख्या लाभकारी कार्यों में संलग्न है तथा शेष 61% जनसंख्या आश्रित है।


Q107. भारत के कुछ राज्यों में अन्य राज्यों की अपेक्षा श्रम सहभागिता ऊँची क्यों है? (Why is work participation rate higher in some states of India than others.)

उत्तर ⇔ भारत के विभिन्न राज्यों में श्रम म गों में खेती पर आश्रित श्रमिकों की संख्या अधिक है. उनमें श्रम सहभागिता अधिक है, क्योंकि या म श्रम सहभागिता दर में विभिन्नता पायी जाती है। जिन आर्थिक विकास के निम्न स्तरों वाले क्षेत्रों में निर्वाह अथवा लगभग निर्वाह की आर्थिक क्रियाओं निष्पादन के लिए अनेक कामगारों की जरूरत पड़ती है। श्रमिकों के अपेक्षाकृत अधिक प्रतिशत वाले राज्य मिजोरम (53%), हिमाचल प्रदेश (49%), सिक्किम (49%), छत्तीसगढ़ (47%), आंधप्रदेश (46%), कर्नाटक (45%) इत्यादि हैं। दूसरी ओर, दिल्ली (33%), उत्तरप्रदेश (33%), .. बिहार (34%), लक्षद्वीप (25%) और केरल (32%) में श्रम सहभागिता दर अति निम्न है।


Q108. परुष/स्त्री वरणात्मक प्रवास के मुख्य कारण की पहचान कीजिए।

उत्तर ⇔ पुरुषों और स्त्रियों के लिए प्रवास के कारण भिन्न हैं। आम तौर पर काम आर जगार परुष प्रवास के मुख्य कारण (38%) रहे हैं, जबकि यही कारण केवल 3% स्त्रिया क लिए हैं। इसके विपरीत, 65% स्त्रियों का प्रवास विवाह के कारण होता है, और भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में यह सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण कारक है। केवल 2% पुरुष प्रवास विवाह के कारण होता है। मेघालय इसका अपवाद है, जहाँ विवाह के कारण पुरुष प्रवास होता है।


Q109. उद्गम और गंतव्य स्थान की आयु एवं लिंग संरचना पर ग्रामीण-नगरीय प्रवास का क्या प्रभाव पड़ता है?

उत्तर ⇔  ग्रामीण-नगरीय प्रवास से नगरों में जनसंख्या की वृद्धि होती है और देश में जनसंख्या का पुनर्वितरण होता है। इससे उद्गम और गंतव्य दोनों स्थानों की आयु और लिंग संरचना असन्तुलित हो जाती है। पुरुष वरणात्मक. प्रवास के कारण गाँवों में स्त्रियों का अनुपात (लिंग अनुपात) बढ़ जाता है और नगरों में कम हो जाता है। इसी प्रकार, रोजगार के लिए पुरुष प्रवास के कारण नगरों में कार्यशील आयु वर्ग का अनुपात बढ़ जाता है और गाँवों में यह कम हो जाता है।


Q110. सतत पोषणीय विकास की संकल्पना को परिभाषित करें।

उत्तर ⇔ “सतत पोषणीय विकास का अर्थ है एक ऐसा विकास जिसमें भविष्य में आने वाली पीढ़ियों की आवश्यकता की पूर्ति को प्रभावित किए बिना वर्तमान पीढ़ी द्वारा अपनी आवश्यकता की पूर्ति करना।” इसका अर्थ यह है कि मृदा या वन जैसे मूल्यवान संसाधनों का उपयोग इस गति से किया जाए ताकि इससे पर्यावरण संतुलन भी कायम रहे और इसका प्राकृतिक रूप से पुनरस्थापन या पुनश्चक्रण हो सके और भविष्य में लोगों के लिए भी ये संसाधन बचे रहें।


Q111. “एक सुप्रबंधित परिवहन प्रणाली में विभिन्न विधाएँ एक-दूसरे की संपूरक
होती है।” स्पष्ट कीजिए। (“In a well managed transporn system, various modes complement each other.” Explain.) ..

उत्तर ⇔ सुप्रबंधित परिवहन प्रणाली का अर्थ है सड़क मार्ग, रेलमार्ग, जलमार्ग तथा वायमार्ग का इस प्रकार विकास कि वे एक-दूसरे के संपूरक हो सकें। अंतर्राष्ट्रीय या अंतर्देशीय जलमार्ग जल तक ही सीमित रहता है और इससे आने-जाने वाले मालों या यात्रियों के लिए यह आवश्यक हाता है कि पत्तन से देश के आंतरिक भाग तक रेल और सड़क मार्ग विकसित हों। रेलमार्ग पर्वतीय क्षेत्रों में बहुत ऊँचाई तक नहीं बन पाते हैं, अतः ऊँचाई तक जाने के लिए रेलमार्ग के संपूरक क रूप में सड़क मार्ग का विकास किया जाता है। वायुमार्ग के संपूरक के रूप में हवाई अड्डा स विभिन्न भागों तक रेल या सड़क मार्ग बनाना पड़ता है।


Q112. भारत में 1991-2001 के दशक में जनसंख्या वृद्धि में क्षेत्रीय भिन्नता को स्पष्ट करें।

उत्तर ⇔ 1991-2001 के दशक में, भारत में जनसंख्या की वृद्धि दर में प्रादेशिक भिन्नता बहुत अधिक है। सर्वाधिक वृद्धि दर 64.53% नागालैंड में थी और न्यूनतम वृद्धि दर 9.43% केरल में थी। केरल के अतिरिक्त अन्य दक्षिणी राज्यों तमिलनाडु (11.72%), आंध्रप्रदेश (14.59%) और कर्नाटक (17.51%) में भी वृद्धि की दर कम थी। यही स्थिति छत्तीसगढ़
(18.27%), गोवा (15.21%), उडीसा (16.25%) की थी। इसके मुख्य कारण उच्च साक्षरता दर, उच्च नगरीकरण तथा अधिक आर्थिक विकास है। दूसरी ओर, जनसंख्या में अधिक वृद्धि (20 से 25%) नागालैंड के अतिरिक्त गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, बिहार, पं० बंगाल इत्यादि में हुई।


Q113. विश्व व्यापार संगठन के आधारभूत कार्य कौन-से हैं?

उत्तर ⇔ विश्व व्यापार संगठन एक मात्र अंतर्राष्ट्रीय संगठन है, जो राष्ट्रों के बीच वैश्विक नियमों का व्यवहार करता है। यह विश्वयापी व्यापार तंत्र के लिए नियमों को नियत करता है और इसके सदस्य देशों के मध्य विवादों का निपटारा करता है। यह दूर-संचार और बैंकिंग जैसी सेवाओं तथा अन्य विषयों जैसे बौद्धिक संपदा अधिकार के व्यापार को भी अपने कार्यों में सम्मिलित करता है। 1948 में इसे गैट, (‘GATT-General Agreement on Trade and Tariff’) के नाम से बनाया गया तथा जनवरी 1995 में इसे विश्व व्यापार संगठन (WTO) में रूपांतरित कर दिया गया। इसका मुख्यालय जेनेवा (स्विट्जरलैंड) में स्थित हैं। 2005 में 149 देश इसके सदस्य थे।
भारत इसके संस्थापक सदस्य में से एक है।


Q114. प्राथमिक एवं द्वितीयक गतिविधियों में क्या अन्तर है?

उत्तर ⇔ प्राथमिक क्रियाकलाप प्रत्यक्ष रूप से पर्यावरण पर निर्भर है और इसमें व्यक्ति अपनी आवश्यकता की वस्तुएँ प्रत्यक्ष रूप से भौतिक पर्यावरण से प्राप्त करता है। इसके अंतर्गत आखेट, भोजन संग्रह, पशुचारण, मछली पकड़ना, वनों से लकड़ी काटना, कृषि एवं खनन कार्य सम्मिलित किए जाते हैं। इसके विपरीत, द्वितीयक कार्यकलाप में प्रकृति में पाये जाने वाले कच्चे-माल का रूप बदलकर उसे अधिक उपयोगी और मूल्यवान बना दिया जाता है। विनिर्माण, प्रसंस्करण और निर्माण (अवसंरचना) उद्योग इसके अंतर्गत आते हैं। ।


Q115. ऋणात्मक भुगतान संतुलन का होना किसी देश के लिए क्यों हानिकारक होता है?

उत्तर ⇔ आयात एवं निर्यात के बीच मूल्यों में अन्तर को व्यापार संतुलन कहते हैं। यह एक देश के द्वारा अन्य देशों को आयात एवं निर्यात की गई वस्तुओं एवं सेवाओं की मात्रा का प्रलेखन करता है। यदि आयात का मूल्य देश के निर्यात मूल्य की अपेक्षा अधिक है, तो देश का व्यापार संतुलन ऋणात्मक अथवा प्रतिकूल है। इसके विपरीत स्थिति में यह धनात्मक अथवा अनुकूल होता है। किसी देश की अर्थव्यवस्था पर व्यापार संतुलन अथवा भुगतान संतुलन का व्यापक प्रभाव पड़ता है। ऋणात्मक संतुलन का अर्थ यह है कि देश वस्तुओं के क्रय पर उससे अधिक व्यय करता है जितना कि अपने सामानों के विक्रय से अर्जित करता है। इससे उसके वित्तीय भंडार समाप्त होने लगेंगे।


Q116. पर्यटन के कोई दो लाभों का उल्लेख करें।

उत्तर ⇔ पर्यटन एक यात्रा है जो प्रमोद के उद्देश्यों से की जाती है। यह विश्व का अकेला सबसे बड़ा तृतीयक कार्य कलाप है जिससे अनेक लोगों को रोजगार मिलता है तथा देशों को राजस्व प्राप्त होता है। इसका सबसे बड़ा लाभ यह है कि यह स्थानीय व्यक्तियों को आवास, भोजन, परिवहन, मनोरंजन इत्यादि क्षेत्रों में रोजगार प्रदान करता है तथा पर्यटन अब संरचना उद्योगों को पोषित करता है। इसका दूसरा महत्त्वपूर्ण लाभ यह है कि यह लोगों को विश्व के विभिन्न क्षेत्रों. मनोहारी दृश्यों, स्मारकों, विरासत स्थलों और सांस्कृतिक गतिविधियों को देखने का अवसर प्रदान करता है।


Q117 फटकर व्यापार सेवा से आप क्या समझते हैं?

उत्तर ⇔ फुटकर व्यापार (खुदरा व्यापार) सेवा वह व्यापारिक क्रियाकलाप है, जो उपभाक्ताओं को वस्तुओं के प्रत्यक्ष विक्रय से संबंधित हैं। अधिकांश फुटकर व्यापार केवल नियत प्रतिष्ठाना और भंडारों में संपन्न होता है। फेरी, रेहड़ी, ट्रक, द्वार से द्वार, डाक आदेश, दूरभाष, स्वचालित बिकी मशीने तथा इंटरनेट फुटकर बिक्री के भंडार रहित उदाहरण हैं।


Q118. प्रौद्योगिकी पार्क क्या है? संक्षेप में लिखें।

उत्तर ⇔  जना प्रौद्योगिकी पार्क को उच्च प्रौद्योगिकी पार्क या सॉफ्टवेयर पार्क भी कहा जाता है। ये सूचना प्रौद्योगिकी उद्योग के केन्द्र हैं, जिनमें ट्रांजिस्टर, टेलीविजन, टेलीफोन, पेजर, राडार, सैल्यलर टेलीकाम, लेजर, अंतरिक्ष उपकरण, कम्प्यूटर का हार्डवेयर (यंत्र सामग्री और सॉफ्टवेयर प्रक्रिया सामग्री) इत्यादि का निर्माण होता है। ये सभी इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद हैं, अतः इस उद्योग को इलेक्ट्रॉनिक उद्योग भी कहते हैं।


Q119. खनिज आधारित उद्योगों से आप क्या समझते हैं?

उत्तर ⇔ खनिज आधारित उद्योग उस उद्योग को कहते हैं जिसमें कच्चा माल के रूप में खनिजों का इस्तेमाल होता है। जैसे लोहा-इस्पात उद्योग, सीमेंट उद्योग इत्यादि। लोहा-इस्पात उद्योग में लौह-अयस्क, कोयला, मैंगनीज, चूना-पत्थर इत्यादि का प्रयोग होता है। सीमेंट उद्योग में चूना-पत्थर का उपयोग होता है।


Q120. अनुदान क्या होता है?

उत्तर ⇔ अनुदान वह आर्थिक सहायता है, जो राज्य, शासन आधिकारिक संस्था आदि की ओर से विशेष कार्य के लिए किसी व्यक्ति या संस्था को दी जाती है।


Q121. भारत में किन्हीं दो व्यावसायिक संवर्गों का उल्लेख करें।

उत्तर ⇔ दो व्यावसायिक संवर्ग निम्नलिखित हैं

(i) प्राथमिक व्यवसाय (Primary Occupation) ⇒ इसके अंतर्गत आखेट, भोजन संग्रह, पशुपालन एवं दुग्ध उत्पादन, मछली पकड़ना, वनों से लकड़ी काटना, कृषि एवं खनन कार्य सम्मिलित किए जाते हैं। प्राथमिक कार्यकलाप करने वाले लोग लाल कॉलर श्रमिक कहलाते हैं, क्योंकि उनका कार्य क्षेत्र घर से बाहर होता है।

(ii) द्वितीयक व्यवसाय (Secondary Occupation) ⇒ द्वितीयक गतिविधियाँ प्रकृति में पाए जाने वाले कच्चे माल का रूप बदलकर उसे मूल्यवान बना देती है। कपास से वस्त्र, गन्ना से चीनी बनाना, लौह-अयस्क से इस्पात बनाना, लकड़ी से फर्नीचर बनाना इत्यादि द्वितीयक व्यवसाय हैं। इस प्रकार द्वितीयक क्रियाएँ विनिर्माण, प्रसंस्करण और निर्माण (अवसंरचना) उद्योग से संबंधित है।


Q122. भारत के राष्ट्रीय जलमार्ग का विवरण दीजिए।

उत्तर ⇔ भारत में राष्ट्रीय जलमार्गों के विकास के लिए 1986 ई० में अन्तः स्थलीय जलमार्ग प्राधिकरण स्थापित किया गया था। इस प्राधिकरण ने तीन अन्तः स्थलीय जलमार्गों को राष्ट्रीय जलमार्ग घोषित किया। ये हैं

(i) राष्ट्रीय जलमार्ग 1⇒ इलाहाबाद से हल्दिया तक 1620 किमी० लंबा यह जलमार्ग भारत . का सर्वप्रमुख जलमार्ग है। यह हल्दिया से फरक्का और पटना होते हुए इलाहाबाद तक जाता है।
(ii) राष्ट्रीय जलमार्ग 2⇒ सदिया से धुबरी तक 891 किमी० लंबा ब्रह्मपुत्र नदी पर विकसित इस जलमार्ग का प्रयोग भारत और बंगलादेश साझेदारी में करते हैं।
(iii) राष्ट्रीय जलमार्ग 3 ⇒  कोदापुरम से कोल्लम तक 168 किमी० की लंबाई में विस्तृत यह जलमार्ग पश्चिमी तट नहर, चंपाकारा और उद्योगमंडल नहरों पर विकसित है।


Q123. भारत में एक्सप्रेस वे क्या है? (What is Expressway in India ?)

उत्तर ⇔ भारत में दिल्ली से जबलपुर तथा मुंबई से पुणे तक चार लेन वाली आधुनिक सड़कों को एक्सप्रेस-वे कहा जाता है। इस सड़क पर चलने वाली गाड़ियों को अतिरिक्त टॉल-टैक्स देना पड़ता है। इस सड़क पर किसी अन्य सड़क से कोई गाड़ी नहीं आ सकती है।


Q124. भारत के चार मध्यकालीन शहरों के नाम लिखें।

उत्तर ⇔ भारत के चार मध्यकालीन शहर हैं—दिल्ली, हैदराबाद, लखनऊ और आगरा।


Q125. उन महत्त्वपूर्ण मदों के नाम बताइये जिन्हें भारत विभिन्न देशों से आयात करता है।

उत्तर ⇔  भारत लगभग 8000 वस्तुओं का विभिन्न देशों से आयात करता है। भारत में आयात किए गए मदों में पेट्रोलियम उत्पाद कहीं अधिक महत्त्वपूर्ण है, जिसके बाद पूँजीगत सामान, मोती तथा रत्न, सोना और चाँदी, रासायनिक उत्पाद, खाद्य वस्तुओं इत्यादि का स्थान आता है। इनके अतिरिक्त लोहा और इस्पात, चिकित्सीय एवं फार्मा उत्पाद, उर्वरक, अलौह धातु, वस्त्र एवं धागे, पेपर बोर्ड एवं विनिर्मित्तियाँ, रासायनिक उत्पाद, कोयला तथा कोक, अखबारी कागज, लुग्दी इत्यादि का आयात किया गया।

Read More :- 

 1.Hindi 100 Marks ( हिंदी )
 2.English 100 Marks ( अंग्रेज़ी )
 3.PHYSICS ( भौतिक विज्ञान )
 4.CHEMISTRY ( रसायन विज्ञान )
 5.BIOLOGY ( जीवविज्ञान )
 6.MATHEMATICS ( गणित )
 7.GEOGRAPHY ( भूगोल )
 8.HISTORY ( इतिहास )
 9.ECONOMICS ( अर्थशास्त्र )
 10.HOME SCIENCE ( गृह विज्ञान )
 11.SANSKRIT ( संस्कृत )
 12.SOCIOLOGY ( समाज शास्‍त्र )
 13.POLITICAL SCIENCE ( राजनीति विज्ञान )
 14.PHILOSOPHY ( दर्शन शास्‍त्र )
15.PSYCHOLOGY ( मनोविज्ञान )
You might also like