Bihar Polytechnic Physics ( विद्युत धारा ) Objective Question Paper 2023

दोस्तों इस पोस्ट में बिहार पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा 2023 के लिए Bihar Polytechnic Physics ( विद्युत धारा ) Objective Question Paper 2023 दिया गया है जो आने वाले बिहार पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा 2023 के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि यही सभी प्रश्न आपके प्रवेश परीक्षा में पूछे जाएंगे इसलिए शुरू से अंत तक पढ़े और अपने तैयारी के लेवल को बेहतर करें


( विद्युत धारा ) Objective

Q1. घरों में प्रयुक्त धारा होती है

(a) दिष्ट धारा
(b) प्रत्यावर्ती धारा
(c) दिष्ट धारा व प्रत्यावर्ती धारा दोनों
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं

(b) प्रत्यावर्ती धारा

Q2. किसी विद्युत परिपथ में एकांक धनावेश को दो बिन्दुओं के बीच । स्थानान्तरित करने में किया गया कार्य कहलाता है

(a) विद्युत धारा
(b) विभवान्तर
(c) आवेश
(d) विभव

(b) विभवान्तर

Q3. सेल का विद्युत वाहक बल निर्भर करता है

(a) प्लेटों के बीच की दूरी पर
(b) सेल की ऊँचाई पर
(c) इलेक्ट्रोडों की प्रकृति पर
(d) इनमें से कोई नहीं

(c) इलेक्ट्रोडों की प्रकृति पर

Q4. आवेश के प्रवाह की दर को कहते हैं

(a) धारा
(b) प्रतिरोध
(c) विभव
(d) विभवान्तर

(a) धारा

Q5. किसी धात्वीय तार में विद्युत धारा का प्रवाह होता है __

(a) प्रोटॉनों द्वारा
(b) आयनों द्वारा
(c) न्यूट्रॉनों द्वारा
(d) इलेक्ट्रॉनों द्वारा

(d) इलेक्ट्रॉनों द्वारा

Q6. एक चालक AB में इलेक्ट्रॉन A से B की ओर बह रहे हैं। धारा की दिशा होगी

(a) A से B की ओर
(b) B से A की ओर
(c) AB के लम्बवत्
(d) इनमें से कोई नहीं

(b) B से A की ओर

Q7. लेक्लांशी सेल में विध्रुवक होता है .

(a) कार्बन
(b) CuSO4
(c) MnO2
(d)K2Cr2O7

Q8. ताँबे के तार से होकर 2.5×1018 मुक्त इलेक्ट्रॉन प्रति सेकण्ड प्रवाहित हो रहे हैं। चालक में धारा है

(a) 0.2 ऐम्पियर
(b) 0.4 ऐम्पियर
(c) 0.5 ऐम्पियर
(d) 0.1 ऐम्पियर

(b) 0.4 ऐम्पियर

Q9. एक धनावेशित तथा एक ऋणावेशित गोले को ताँबे के तार से जोड़ने. पर गोलों के उदासीन होने में 1 मिली सेकण्ड का समय लगता है तथा इस समय में तार से होकर 200 माइक्रो कूलॉम आवेश गुजर जाता है। तार में प्रवाहित धारा का मान होगा (a) 0.2 ऐम्पियर

(a) 0.2 ऐम्पियर
(b) 0.1 ऐम्पियर
(c) 0.4 ऐम्पियर
(d) 0.6 ऐम्पियर

(a) 0.2 ऐम्पियर

Q10. एक चालक के सिरों का विभवान्तर 1.5 वोल्ट है। एक मुक्त इलेक्ट्रॉन  चालक के एक सिरे से दूसरे सिरे तक जाने में कार्य करेगा

(a) 2.4 x 10-19 जूल
(b) 2.4 जूल
(c) 2.4×10-18 जूल
(d) 2.4 x 10-17 जूल

Bihar Polytechnic Vidyut Dhara Objective Question 2023

Q11. किसी चालक के सिरों का विभवान्तर 2 वोल्ट है। इस चालक में 0.1 कूलॉम आवेश प्रवाहित होने पर कार्य होगा

(a) 0.1 जूल
(b) 0.2 जूल
(c) 2 जूल
(d) 1 जूल

(b) 0.2 जूल

Q12. जूल/कूलॉम निम्न में से है ।

(a) ऐम्पियर
(b) वोल्ट
(c) ओम
(d) वाट

(b) वोल्ट

Q13. शुष्क सेल का बाहरी खोल, जित्समें मसाला भरा होता है, बना होता है

(a) काँच का
(b) कार्बन का
(c) लोहे का
(d) जस्ते का

(d) जस्ते का

Q14. विद्युत सेल स्रोत है

(a) इलेक्ट्रॉनों का
(b) विद्यत ऊर्जा का
(c) विद्युत आवेश का
(d) विद्युत धारा का

(b) विद्यत ऊर्जा का

Q15. किसी चालक में धारा का मान 200 मिली ऐम्पियर है। इससे होकर प्रति सेकण्ड मुक्त इलेक्ट्रॉन गुजरेंगे

(a) 1.25×1018
(b) 1.25
(c) 1.25 x 1017
(d) 1.25 x 1020

Q16. एक इलेक्ट्रोप्लेटिंग बाथ में से 4 ऐम्पियर धारा प्रयोग करने पर 36000 कूलॉम आवेश प्रवाहित करने में समय लगेगा

(a) 9 घण्टे
(b) 2.5 घण्टे
(c) 0.9 घण्टे
(d) 0.25 घण्टे

(b) 2.5 घण्टे

Q17. Cu++ आयतन पर आवेश होगा।

(a) 1.6 x 10-19 कूलॉम
(b) 18×10-19 कूलॉम
(c) 32 x 10-19 कूलॉम
(d) इनमें से कोई नहीं

Q18. किसी विद्युत परिपथ के दो बिन्दुओं के बीच 10 कूलॉम आवेश प्रवाहित करने में 250 जूल ऊर्जा व्यय होती है। दोनों बिन्दुओं के बीच विभवान्तर होगा.

(a) 20 वोल्ट
(b) 10 वोल्ट
(c) 25 वोल्ट
(d) 15 वोल्ट

(c) 25 वोल्ट

Q19. एक चालक के सिरों का विभवान्तर 1.5 वोल्ट है तथा उसमें धारा प्रवाहित होने से 20 सेकण्ड में 15 जल ऊर्जा प्राप्त होती है। चालक में प्रवाहित धारा होगी

(a) 20 ऐम्पियर
(b) 10 ऐम्पियर
(c) 4 ऐम्पियर
(d) 0.5 ऐम्पियर

(d) 0.5 ऐम्पियर

Q20. किसी तार में एक माइक्रो ऐम्पियर की धारा बह रही है तो 1 सेकण्ड में तार के एक सिरे से होकर दूसरे सिरे तक गुजरने वाले इलेक्ट्रॉनों की संख्या होगी

(a) 6.25×1018
(b) 1.6×1019
(c) 625×1012
(d) 625 x 105

पॉलिटेक्निक का विद्युत धारा का ऑब्जेक्टिव

Q21. 8 सेमी त्रिज्या के ताँबे के गोले पर 8 कूलॉम का कुल आवेश है। इलेक्ट्रॉन गोले के एक बिन्दु से गोले के विकर्णीय विपरीत बिन्दु तक जाता है। कृत कार्य

(a) इलेक्ट्रॉन के पथ पर निर्भर करेगा।
(b) सदैव शून्य होगा
(c) शून्य नहीं होगा और कार्य इलेक्ट्रॉन पर होगा
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं

(b) सदैव शून्य होगा

Q22. शुष्क सेल में विध्रुवक का कार्य करता है ।

(a) कॉपर सल्फेट
(b) मैंगनीज डाई-ऑक्साइड
(c) अमोनिया क्लोराइड
(d) प्लास्टर ऑफ पेरिस

(b) मैंगनीज डाई-ऑक्साइड

Q23. एक चालक में 3.5 ऐम्पियर धारा प्रवाहित हो रही है। चालक से होकर – एक मिनट में कितना आवेश गुजरेगा?

(a) 21 कूलॉम
(b) 210 कूलॉम
(c) 42 कूलॉम
(d) 3.5 कूलॉम

(b) 210 कूलॉम

Q24. किसी ठोस धातु में 16 x 1021 परमाणु हैं। यदि ठोस के 0.5% परमाणुओं में से प्रत्येक से 1 इलेक्ट्रॉन निकल जाए तो ठोस पर आएगा

(a) 16.8 कूलॉम धन आवेश
(b) 18.8 कूलॉम ऋणावेश
(c) 6.4 कूलॉम ऋणावेश
(d) 12.8 कूलॉम धनावेश

(d) 12.8 कूलॉम धनावेश

बिहार पॉलिटेक्निक विद्युत चुंबकत्व ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर

Q25. एक परिपथ में 4.5 मिनट तक 325 किलो-ऐम्पियर की धारा बनाये रखने के लिये विद्युत सेल से कुल 175.5 जूल ऊर्जा लेनी पड़ती है। सेल का विद्युत वाहक बल ज्ञात कीजिये।

(a) 2 वोल्ट
(b) 3 वोल्ट
(c) 0.2 वोल्ट
(d) 0.3 वोल्ट

(a) 2 वोल्ट

Q26. एक इलेक्ट्रॉन को अनन्त से किसी आवेशित चालक तक 4.8×10-18 जूल कार्य करना पड़ता है। आवेशित चालक के विभव में वृद्धि होगी

(a) 6 जूल/कूलॉम
(b) 4 जूल/कूलॉम
(c) 40 जूल/कूलॉम
(d) 30 जूल/कूलॉम

(d) 30 जूल/कूलॉम

Q27. एक तार में 2 मिली सेकण्ड में 400 माइक्रोकूलॉम का आवेश गम है। धारा का औसत मान होगा

(a) 2 ऐम्पियर
(b) 0.2 ऐम्पियर
(c) 4 ऐम्पियर
(d) 20 ऐम्पियर

(b) 0.2 ऐम्पियर

Q28. विद्युत लेपन में 10 ऐम्पियर की धारा प्रवाहित करने पर 3000 कूलॉम आवेश का प्रवाह हुआ। विद्युत लेपन में समय लगा

(a) 10 घण्टे
(b) 3.6 घण्टे
(c) 2 घण्टे
(d) 1 घण्टा

(d) 1 घण्टा

Q29. किसी परिपथ में 4.8 ऐम्पियर की धारा प्रवाहित हो रही है। यदि एक प्रोटॉन पर आवेश 1.6×10-19 कूलॉम हो, तो परिपथ के अनुप्रस्थ परिच्छेद से प्रति मिनट गुजरने वाले इलेक्ट्रॉनों की संख्या होगी

(a) 3×1019
(b) 3×1020
(c) 1.8×1020
(d) 1.8×1021

Q30. एक इलेक्ट्रॉन पर 1.6×10-19 कूलॉम का आवेश होता है। यदि किसी चालक में 2.5 ऐम्पियर की धारा 2 सेकण्ड तक प्रवाहित की जाये, तो इलेक्ट्रॉनों की संख्या होगी।

(a) 6.25×1018
(b) 31.25×1018
(c) 3×1019
(d) 3.125×1020

बिहार पॉलिटेक्निक भौतिक विज्ञान मॉडल पेपर

Q31. एक बादल भूमि के सापेक्ष 2×104 V विभव पर है तथा भूमि से उस की दूरी 60 मी है। जब भूमि पर बिजली गिरती है तो भूमि पर 65 कूलॉस का आवेश स्थानान्तरित होता है। किया गया कार्य है

(a) 78×107 जूल
(b) 3.077×106 जूल
(c) 22×104 जूल
(d) 1.30×106 जूल

Q32. एक चालक के परिच्छेद से 10 सेकण्ड में 1020 इलेक्ट्रॉन प्रवाहित होते हैं। यदि एक इलेक्ट्रॉन पर 1.6×10-19 कूलॉम का आवेश हा चालक में प्रवाहित विद्युत धारा का मान है

(a) 1.6 ऐम्पियर
(b) 16 ऐम्पियर
(c) 6 ऐम्पियर
(d) 3.2 ऐम्पियर

(a) 1.6 ऐम्पियर

Read More :- 

Bihar Polytechnic Question Physics 2023

1मापन
2सदिश राशि एवं अदिश राशि
3गति 
4गति के नियम
5गति & बल
6बल आघूर्ण
7कार्य ऊर्जा एवं शक्ति
8तरंग  एवं ध्वनि
9विधुत & चुम्बकत्व
10उष्मा
11प्रकाश
12गुरुत्वाकर्षण
13आर्कमिडीज का सिद्धांत
14पदार्थ का अणुगति सिद्धांत
15तापमिति तथा उष्मीय प्रसार
16ऊष्मा – संचरण
17प्रकाश की प्रकृति तथा परावर्तन
18प्रकाश का गोलीय दर्पण पर परावर्तन
19प्रकाश का अपवर्तन
20 पतले लेंसों से अपवर्तन
21 प्रकाशिक यंत्र
You might also like